Trending News
दिन की शुरुआत करने से पहले राशिफल पर डालें एक नज़र | रोज सुबह खाएं 4-5 बादाम, होंगे फायदे ही फायदे | जब बुलेटिन शुरु होने से पहले आपस में ही लड़ने लगे ये एंकर्स, अब वायरल हो रहा ये मजेदार वीडियो | सुष्मिता सेन ने इस अनोखे अंदाज में दी श्रीदेवी को श्रद्धांजलि, बेटियों को लेकर कही ये बात | मोदी ने कहा – इस्लामिक विरासत पर हमें गर्व है, आतंक के खिलाफ मुहिम किसी धर्म के खिलाफ नहीं | अलविदा चांदनी… राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुईं श्रीदेवी | ओवैसी का भड़काऊ बयान, बोले – मस्जिद जहां थी, वहीं बनेगी… नहीं छोड़ेंगे दावा | शुरू हुई 2019 के चुनाव की तैयारी, मेरठ में आरएसएस के समागम में उमड़ा स्वयंसेवकों का सैलाब | अपनी चमक बिखेर कर हमेशा के लिए चली गई ‘चाँदनी’, शोक में डूबा पूरा बॉलीवुड जगत | #INDvsSA Final T20 : भुवनेश्‍वर के कमाल से भारत ने अफ्रीका को 7 रन से रौंदा, जीती सीरीज़   | 5 रुपये के सेंधा नमक में छिपा है खूबसूरती का पिटारा, इसे इस्तेमाल करने के बाद सबकुछ भूल जाएंगी आप | … तो इसलिए शरीर के निचले हिस्सों में नहीं पहना जाता सोना |

सेना ने ओवैसी को दिया करारा जवाब, कहा – हम शहीदों को धर्म से नहीं जोड़ते

जम्मू। आतंकी हमले में मारे गए सैनिकों पर की गई टिप्पणी के लिए हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को अब सेना ने करारा जवाब दिया है। उत्तरी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबु ने कहा, हम शहीदों को संप्रदायों में नहीं बांटते। उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा कि जो इस तरह के बयान दे रहे हैं वो सेना की ठीक से नहीं जानते। बता दें ओवैसी ने कहा था कि आतंकी हमले में मारे गए 6 आतंकियों में से 5 मुसलमान हैं, जिसके बाद ये विवाद पैदा हुआ था।

शहादत पर मौन रहने को लेकर सवाल उठाया था

ओवैसी ने मुस्लिमों की देशभक्ति पर सवाल उठाने वाले लोगों पर सुंजुवान आतंकी हमले में मुस्लिम सैनिकों की शहादत पर मौन रहने को लेकर सवाल उठाया था। अधिकारी ने कहा कि कश्मीर घाटी में युवाओं का आतंकी बनना जारी रहना चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि युवाओं में अलगाववादी भावना को फैलाने के लिए सोशल मीडिया का खूब इस्तेमाल किया जा रहा है।

उनका सफाया करना सेना की प्राथमिकता रहेगी

उन्होंने कहा, इस समय जो आतंकवादी रैंक में शामिल हो रहे हैं और जो उनका समर्थन कर रहे हैं, उन्हें समझना होगा कि इससे किसी को फायदा नहीं है और इससे सिर्फ आम आदमी के जीवन में मुश्किलें आती हैं। उन्होंने कहा कि जहां तक आतंकवाद से निपटने का मुद्दा है तो आतंकी नेतृत्व की पहचान करना व उनका सफाया करना सेना की प्राथमिकता रहेगी।

शत्रु हताश हैं व आसान लक्ष्य पर हमला कर रहा है

उन्होंने कहा, शत्रु हताश हैं व आसान लक्ष्य पर हमला कर रहा है। जब वह सीमा पर विफल होते हैं तो शिविरों पर हमला करते हैं। सेना के कमांडर ने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिदीन एक साथ काम कर रहे हैं, चाहे घाटी में हो या राज्य में कहीं भी। उन्होंने कहा, उनमें कोई अंतर नहीं है।

loading...

Related Posts