Trending News
दिन की शुरुआत करने से पहले राशिफल पर डालें एक नज़र | रोज सुबह खाएं 4-5 बादाम, होंगे फायदे ही फायदे | जब बुलेटिन शुरु होने से पहले आपस में ही लड़ने लगे ये एंकर्स, अब वायरल हो रहा ये मजेदार वीडियो | सुष्मिता सेन ने इस अनोखे अंदाज में दी श्रीदेवी को श्रद्धांजलि, बेटियों को लेकर कही ये बात | मोदी ने कहा – इस्लामिक विरासत पर हमें गर्व है, आतंक के खिलाफ मुहिम किसी धर्म के खिलाफ नहीं | अलविदा चांदनी… राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुईं श्रीदेवी | ओवैसी का भड़काऊ बयान, बोले – मस्जिद जहां थी, वहीं बनेगी… नहीं छोड़ेंगे दावा | शुरू हुई 2019 के चुनाव की तैयारी, मेरठ में आरएसएस के समागम में उमड़ा स्वयंसेवकों का सैलाब | अपनी चमक बिखेर कर हमेशा के लिए चली गई ‘चाँदनी’, शोक में डूबा पूरा बॉलीवुड जगत | #INDvsSA Final T20 : भुवनेश्‍वर के कमाल से भारत ने अफ्रीका को 7 रन से रौंदा, जीती सीरीज़   | 5 रुपये के सेंधा नमक में छिपा है खूबसूरती का पिटारा, इसे इस्तेमाल करने के बाद सबकुछ भूल जाएंगी आप | … तो इसलिए शरीर के निचले हिस्सों में नहीं पहना जाता सोना |

अखिलेश बोले, किसानों पर लाठीचार्ज करना बीजेपी सरकार का कायराना कदम

लखनऊ। पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किसानों को लेकर एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि महोबा में ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसल के मुआवजे की मांग कर रहे किसानों के साथ बर्बरता से पेश आना सरकार का कायराना अंदाज है। अखिलेश ने आगे कहा कि नोटबंदी के समय सरकार ने कहा था कि अमीरों से पैसा लेकर वो गरीबों को देगी, लेकिन यह वादा भी 15 लाख के वादे की तरह झूठा निकला। आज किसान सरकार के खिलाफ सड़कों पर मारा-मारा धक्के खा रहा है।

ओलावृष्टि से किसानों की फसलें बुरी तरह बर्बाद हुई हैं

अखिलेश यादव ने सरकार पर आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार किसानों के साथ शत्रुतापूर्ण व्यवहार कर रही है। हाल में ओलावृष्टि से किसानों की फसलें बुरी तरह बर्बाद हुई हैं। किसान तमाम परेशानियों से गुजर रहा है, उसके ऊपर कर्र्जे बढ़ते जा रहे हैं। वहीं सरकार ने भी कर्जमाफी के नाम पर धोखा किया। खाद, बीज, कीटनाशक की सुचारू व्यवस्था न होने से और अपनी फसल का लागत मूल्य भी न मिल पाने से किसान बदहाली की जिंदगी जी रहा है। वह क्षुब्ध होकर आत्महत्या कर रहा है।

गाय को मां कहने वाली सरकार ये नही चाहती कि किसान गाय पाले

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सुनियोजित तरीके से डेरी उद्योग से जुड़े किसानों को भी हतोत्साहित कर रही है। गाय को मां कहने वाली सरकार ये नही चाहती कि किसान गाय पाले। जहां एक ओर खेती-किसानी के कार्यों में सरकार कोई मदद नहीं कर रही है। वहीं कृषि उत्पादकों के संरक्षण और संवर्धन में भी प्रदेश सरकार के पास कोई नीति नहीं है।

बीजेपी किसानों के दुःख दर्द सुनने को भी तैयार नहीं है

वस्तुतः सरकार की नीतियां कारपोरेट जगत के लिए बनी हैं, किसान के लिए नहीं। कर्ज किसान को नहीं, व्यापारी को दिया जाता है। किसानों को तो बस अपमानित किया जाता है। अखिलेश यादव ने कहा कि पिछली समाजवादी सरकार में किसान हितैषी बजट से अन्नदाता को मजबूत करने की दिशा में बहुत कार्य हुआ। प्रदेश के बजट में 75 प्रतिशत राशि खेती-किसान पर खर्च की गई थी और साथ ही कामधेनु जैसी योजनाओं से किसानों को आर्थिक रूप से संपन्न करने की नीति का क्रियान्वयन हुआ था। बीजेपी किसानों के दुःख दर्द सुनने को भी तैयार नहीं है।

loading...

Related Posts