Trending News
दिन की शुरुआत करने से पहले राशिफल पर डालें एक नज़र | रोज सुबह खाएं 4-5 बादाम, होंगे फायदे ही फायदे | जब बुलेटिन शुरु होने से पहले आपस में ही लड़ने लगे ये एंकर्स, अब वायरल हो रहा ये मजेदार वीडियो | सुष्मिता सेन ने इस अनोखे अंदाज में दी श्रीदेवी को श्रद्धांजलि, बेटियों को लेकर कही ये बात | मोदी ने कहा – इस्लामिक विरासत पर हमें गर्व है, आतंक के खिलाफ मुहिम किसी धर्म के खिलाफ नहीं | अलविदा चांदनी… राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुईं श्रीदेवी | ओवैसी का भड़काऊ बयान, बोले – मस्जिद जहां थी, वहीं बनेगी… नहीं छोड़ेंगे दावा | शुरू हुई 2019 के चुनाव की तैयारी, मेरठ में आरएसएस के समागम में उमड़ा स्वयंसेवकों का सैलाब | अपनी चमक बिखेर कर हमेशा के लिए चली गई ‘चाँदनी’, शोक में डूबा पूरा बॉलीवुड जगत | #INDvsSA Final T20 : भुवनेश्‍वर के कमाल से भारत ने अफ्रीका को 7 रन से रौंदा, जीती सीरीज़   | 5 रुपये के सेंधा नमक में छिपा है खूबसूरती का पिटारा, इसे इस्तेमाल करने के बाद सबकुछ भूल जाएंगी आप | … तो इसलिए शरीर के निचले हिस्सों में नहीं पहना जाता सोना |

… तो इसलिए शरीर के निचले हिस्सों में नहीं पहना जाता सोना

नई दिल्ली। महिलाओं को सोने-चांदी के जेवरों का बहुत शौक होता है। खासकर सोने के आभूषण उन्हें बहुत लुभाते हैं। इनकी कीमत भी अक्सर काफी ज्यादा होती है। आपने एक बात गौर की होगी कि महिलाएं अक्सर अपनी कमर के निचले हिस्से से लेकर पैरों तक सोने के आभूषण नहीं पहनती हैं। पैरों में पहनी जाने वाली पायल और बिछिया भी चांदी की बनी होती है। आज हम आपको बताते हैं कि इसके पीछे आखिर कारण क्या है।

धार्मिक रूप से देखा जाए तो सोने को एक लक्ष्मी का स्वरूप माना गया है। भगवान विष्णु की भी सबसे प्रिय वस्तु सोना ही है। यही कारण है कि सोने को शरीर के नीचले हिस्सों में नहीं पहना जाता। कहा भी गया है कि लक्ष्मी स्वरूप सोने को पैरों में पहनने से उसका अपमान होता है।

वैज्ञानिक रूप से देखा जाए तो सर गर्म होता है और पैर ठंडे होते हैं। शरीर के तापमान के बैलेंस को बनाएं रखने के लिए कमर के नीचे चांदी के आभूषण पहने जाते हैं। सोने के गहने गर्म और चांदी के गहने ठंडे होते हैं। इसीलिए कहा गया है कि कमर के नीचे चांदी के आभूषण पहनने से शरीर में गर्मी और शीतलता का संतुलन बना रहता है।

अगर बात की जाए चांदी की बिछिया की तो यह सेहत के लिहाज से फायदेमंद होता है। पैरों की उंगलियों में बिछिया पहनने से मासिक चक्र नियमित रहता है। इतना ही नहीं बिछिया एक्यूप्रेशर का भी काम करती है, जिससे तलवे से लेकर नाभि तक की सभी नाड़ियां और पेशियां सही रहती हैं।

loading...

Related Posts